E-passport (ई-पासपोर्ट) क्या होता है?

e Passport Seva India in Hindi

e Passport, ई-पासपोर्ट Seva, ई-पासपोर्ट India, ई-पासपोर्ट login, E-Passport download, e-Passport kya Hota hai, ई-पासपोर्ट in Hindi, ई-पासपोर्ट kya hai/h, ई-पासपोर्ट Kaise banaye, ई-पासपोर्ट ke fayde/labh/benefits/advantages   


E-पासपोर्ट स्वदेशी तकनीक से बना एक सम्पूर्ण सुरक्षित इलेक्ट्रॉनिक पासपोर्ट है, जिससे साइबर क्राइम /अपाध, पासपोर्ट फ्रॉड यानि नकली पासपोर्ट आदि पर रोक लगेगी। ई-पासपोर्ट (e-passport) से किसी की जाँच की प्रक्रिया तेजी से हो पायेगी और इससे नकली पासपोर्ट पर भी लगाम लगेगी, इसमें कई आधुनिक फीचर्स को शामिल किया जायेगा।

भारत सरकार E-Passport (इलेक्ट्रॉनिक पासपोर्ट) पर नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर और आईआईटी कानपुर की मदद से बहुत तेजी से काम कर रही है, ये संस्थान ई-पासपोर्ट की सिलिकॉन चिप के निर्माण कार्य में लगी हुई है, जो 60 kb की होगी जिसमे 30 ट्रिप का डेटाबेस (बायोमेट्रिक व अन्य विवरण) स्टोर होगा, और ई-पासपोर्ट की प्रिंटिंग & असेंबलिंग के काम को इंडियन सिक्योरिटी प्रेस नासिक करेगी।

ई-पासपोर्ट seva आने से हर किसी की अंतरराष्ट्रीय यात्राओं की सम्पूर्ण जानकारी और उसकी बायोमेट्रिक डिटेल, सिर्फ एक चिप में सुरक्षित रहेगी, ई-पासपोर्ट India में सबसे पहले यहाँ के डिप्लोमेट्स और ऑफिसियल्स को प्रदान किये जायेंगे।

ई-पासपोर्ट (e Passport) क्या होता है?

यह एक उन्नत सुरक्षा सुविधा (Advanced Security Features) वाला इलक्ट्रोनिक पासपोर्ट (ई-पासपोर्ट) होगा, जिस पर पासपोर्ट धारक (Passport Holder) के डिजिटल साइन (Digital Signature) अंकित होंगे, इस पर एक सिलिकॉन चिप लगी होगी, जिसमे पासपोर्ट धारक की पूरी जानकारी जैसे उसका फोटो, ई-सिगनेचर/साइन, फिंगरप्रिंट जैसे बायोमेट्रिक जानकारी आदि सब स्टोर की हुई होगी, इसमें लगी चिप को यदि कोई तोड़ देता है तो वो पासपोर्ट समाप्त हो जायेगा यानि किसी काम का नहीं रहेगा।

वैसे तो यह एक आम पासपोर्ट की तरह फिजिकल पासपोर्ट ही होगा, पर इसमें लगी सिलिकॉन चिप की वजह से ई-पासपोर्ट बन जाता है और इसके पीछे के कवर पर ही यह चिप लगी होगी, जिसको इलेक्ट्रॉनिक्स माध्यम से रीड करके, पासपोर्ट धारक की सारी जानकारी एयरपोर्ट स्टाफ ले पायेगा, जो वेरिफिकेशन का प्रोसेस होता है, ऐसे में वेरिफिकेशन में बहुत ज्यादा समय बचेगा।

इस ई-पासपोर्ट में आपकी 30 विदेशी यात्राओं की जानकारी और वीजा की जानकारी यानि बारकोड शामिल होंगे, और इस पासपोर्ट के माध्यम से टचलेस इमीग्रेशन भी संभव हो पायेगा। इसके अलावा यदि कोई इस ई-पासपोर्ट के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ करने की कोशिश करेगा तो वो आसानी से पकड़ा जा सकेगा। India में ई-पासपोर्ट की सुविधा अभी तक किसी के लिए भी शुरू नहीं हुई है, हा इस पर तेजी से काम चल रहा है।

ई-पासपोर्ट की विशेषताएं / ख़ास बाते –

‣ ई-पासपोर्ट से एयरपोर्ट पर पहचान प्रमाणित करने में लगने वाले समय में बहुत ज्यादा कमी आएगी।
‣ इसका कवर आगे-पीछे से मोटा हो सकता है, पीछे के कवर में छोटा सिलिकॉन चिप हो सकता है।
‣ इसे बनाने में किसी भी कॉमर्शियल एजेंसी को शामिल नहीं किया जायेगा।
‣ इसकी सिलिकॉन चिप में 64 kb का मेमोरी स्पेस होगा।
‣ इसकी सिलिकॉन चिप में पासपोर्टधारक का फोटो और फिंगरप्रिंट्स होगा।
‣ इसकी सिलिकॉन चिप में 30 विजिट्स/ट्रिप का डेटाबेस होगा।
‣ इसके प्रोटोटाइप का परीक्षण USA Govt से मान्यता प्राप्त लेबोरेटरी में होगा।

‣ चिप में आपकी तस्वीर, फिंगरप्रिंट और ट्रेवल डेटा होगा।
‣ चिप में दर्ज जानकारी से पहचान आसानी से होगी।
‣ चिप पासपोर्ट की वैधता को साबित करेगी।
‣ चिप में दर्ज सूचनाओं को बदला नहीं जा सकेगा।
‣ e-passport में फर्जीवाड़ा करना बहुत मुश्किल है।

अन्य भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here