What to do After Graduation in Hindi – कॉलेज के बाद क्या करे?

College Ke Baad Kya kare

छात्रों के लिए कॉलेज ड्यूरेशन एक रोमांचक सफ़र होता है, तीन-चार सालो के अध्ययन के बाद आप करियर चुनने के लिए स्वतंत्र हो जाते हैं। कॉलेज के स्नातकों के पास कई विकल्प उपलब्ध है, कुछ स्नातक अपने करियर को शुरू कर सकते हैं जबकि कुछ उच्च स्तर की पढ़ाई करना चाहते है वो पढ़ाई के नये कोर्स में प्रवेश ले सकते है, इस लेख में आप जानेंगे कि Graduation/College ke baad kya kare?

College ke baad kya करे?

आप अपने कोर्स की पढ़ाई के हिसाब से मौजूद करियर विकल्पों और अपनी रूचि को ध्यान में रख कर आगे बढ़ सकते है, कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई के बाद वही रास्ता चुनें जो आपके करियर और आपके जुनून दोनों को लाभ पहुँचा सके, कॉलेज से स्नातक होने के बाद क्या किया जाए, इसके लिए नीचे दी गयी सूची पर विचार करे – 

  • उच्च स्तर की पढ़ाई के लिए अपनी शिक्षा जारी रखे
  • रिसर्च सहायक/असिस्टेंट बने
  • एक वर्ष का अंतराल ले सकते है
  • अच्छे करियर की शुरूवात के लिए इंटर्नशिप करे
  • प्रवेश स्तर की नौकरी/जॉब ढूँढ ले
  • स्वयंसेवक अवसरों जैसे वालंटियर ऑपर्चुनिटीस को खोजे
  • शिक्षक बन सकते है
  • ट्यूशन क्लासस खोले
  • अपने ही कॉलेज में जॉब पर लग जाए
  • अपना खुद का व्यापार शुरू करे
  • ऑनलाइन जॉब खोजे
  • सरकारी नौकरी के लिए अप्लाइ करे

स्नातक के बाद कौनसा कोर्स करे?

नए स्नातक उम्मीदवार के लिए भारत में उच्च स्तर की पढ़ाई या पोस्ट ग्रॅजुयेशन के लिए उपलब्ध विकल्प इस प्रकार है –

  1. PGDM Course यानी पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट जैसे फाइनान्स, मार्केटिंग, ऑपरेशन्स, इन्फर्मेशन टेक्नालजी, ह्यूमन रिसोर्सस आदि, पीजीडीएम कोर्स की समय/अवधि 1 वर्ष से 2 वर्ष तक होती है। 
  2. MBA Course यानी मास्टर ऑफ बिज़्नेस आड्मिनिस्ट्रेशन (व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर) इस कोर्स के लिए अच्छे संस्थानों में प्रवेश लेने के लिए आपको एंट्रेन्स/ प्रवेश परीक्षा जैसे CAT, GMAT पास करनी होती है और यह कोर्स 2 साल का होता है।  
  3. M.Tech यानी मास्टर ऑफ टेक्नालजी (Master of Technology) यदि आपने इंजिनियरिंग (B.Tech) की है तो यह कोर्स कॉर्पोरेट क्षेत्रों में एक उज्ज्वल कैरियर बनाने में सक्षम साबित होता है क्योंकि अच्छे और हाइली क्वालिफाइड इंजीनियर की माँग हमेशा अच्छे संगठनों में बनी रहती है, यह कोर्स 2 साल का होता है।  
  4. MCA यानी मास्टर ऑफ कंप्यूटर अप्लिकेशन्स यदि आपने बेचलर ऑफ कंप्यूटर अप्लिकेशन्स (BCA) का कोर्स किया है तो आप पोस्ट ग्रॅजुयेशन करने के लिए यह कोर्स कर सकते है जिसकी अवधि 2 साल की होती है, कुछ कॉलेज योग्यता परीक्षा (क्वालिफाइयिंग एग्ज़ॅम) में प्राप्त मेरिट के आधार पर प्रवेश लेते है और कुछ कॉलेज राष्ट्रीय स्तर, संस्थान स्तर या राज्य स्तर की प्रवेश परीक्षा के आधार पर इस कोर्स में प्रवेश लेते हैं।
  5. PGDHM यानी होटल मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएशन (Post Graduation in Hotel Management) जो लोग आतिथ्य उद्योग (Hospitality Industry) में रुचि रखते है उनके लिए यह सही कैरियर विकल्प है, कोई भी स्नातक इस कोर्स में प्रवेश ले सकता है और इस कोर्स की अवधि 1 से 2 वर्ष तक होती है।
  6. PGHRM यानी मानव संसाधन प्रबंधन में स्नातकोत्तर (Post Graduate in Human Resource Management) इस कोर्स की डिग्री रखने वाले उम्मीदवारों के पास भर्ती समन्वयक (Recruitment coordinator), मानव संसाधन प्रबंधक (HR Manager), मानव संसाधन सलाहकार (HR Consultant), और वरिष्ठ मानव संसाधन अधिकारी (Senior HR Officer) के रूप में नियोजित होने का एक बेहतर मौका होता है और यह कोर्स 2 साल का होता है।  

रिसर्च असिस्टेंट क्या होता है?

एक रिसर्च असिस्टेंट यानी शोध सहायक जो किसी व्यवसायी को जानकारी व्यवस्थित करने या किसी परियोजना के लिए रिकॉर्ड बनाए रखने में मदद करता है, इनको प्रयोगशालाओं, कानून कार्यालयों, प्रकाशन कंपनियों और महाविद्यालयों या विश्वविद्यालयों जैसे शैक्षणिक वातावरण में काम करने को मिलता है। 

स्नातक के बाद सरकारी नौकरियां कौन-कौन सी हैं?

स्नातक के बाद (Graduation/College Ke Baad) उम्मीदवार सरकारी जॉब के लिए अप्लाइ कर सकता है, भारत में उपलब्ध After Graduation Govt Jobs के विकल्प इस प्रकार है –

  • SSC CGL (Tax Assistant/Audit Officer/Income Tax Inspector/Section officer)
  • SSC CPO (Sub Inspector)
  • SSC JE (Junior Engineer)
  • UPSC CSE (Secretary/अडीशनल मजिस्ट्रेट/divisional commissioner)
  • UPSC CDS (लेफ्टिनेंट)
  • UPSC CAPF (Assistant Commandants/सहायक कमांडर)
  • UPSC IES (कई Engineering Posts)
  • RRB JE (Junior Engineer in Railway)
  • RRB NTPC (Station Master/Goods Guard/Traffic Assistant)
  • DMRC (Railway Job जैसे Section Engineer/General Manager)
  • IBPS PO/Clerk 
  • NABARD (Development Assistant/Manager A Grade/Manager B Grade in Banking)
  • SBI  PO (Probationary Officer)
  • AFCAT (Defense Sector)

और भी पढ़े –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here