Business Loan की पूरी जानकारी

business ke liye loan kaise le in hindi

बहुत से लोग ऐसे है जो या तो अपना खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं या अपने पहले से चल रहे बिजनेस को आगे बढ़ने के लिए लोन लेना चाहते, और जिनके पास या तो अपना खुद का बिजनेस शुरू करने के लिए या पहले से चालू किए गये बिजनेस को बड़ा करने के लिए फंड्स/ पैसो की कमी है, तो आप अपने बिजनेस के लिए लोन ले सकते हैं, अपने business ke liye loan kaise le? इस पोस्ट में इससे जुड़ी पूरी जानकारी दी गयी है।

Business Loan kya hota hai – What is business loan in Hindi?
Business loan ke fayde kya hai – Benefits of Business Loan in Hindi
Business ke liye Loan kaha se le – Where to apply for business loan in Hindi?
Business Loan ke liye Eligibility Criteria – What is Eligibility Criteria to get business loan?
Business Loan ke liye Documents – What documents required for business loan?
Business Loan ke liye apply kaise kare – How to apply for business loan in Hindi?

Business Loan क्या होता है?

बिजनेस लोन यानी ‘व्यवसाय ऋण’ जो विशेष रूप से व्यावसायिक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए लिया जाता है, जैसे आप यदि कोई दुकान, रीटेल और होलसेल शॉप, डिस्ट्रिब्युटरशिप और किसी भी प्रकार का अन्य बिजनेस शुरू करना चाहते हैं या फिर पहले से चल रहे अपने बिजनेस में और अधिक निवेश करना चाहते और इसके लिए आपके पास पैसो की कमी होती है तो पैसो की इस ज़रूरत को लोन लेकर पूरा कर सकते हैं, बिजनेस के लिए जाने वाले इस फंड को Business Loan कहते है, जब कोई बिजनेस लोन लेता हैं, तो यह एक तरह का उधार होता है जिसे आपको एक निश्चित ब्याज दर के अनुसार, मूल धन को ब्याज के साथ लौटना पड़ता है।

बिजनेस लोन लेने के फायदे क्या हैं?

किसी बिजनेस से जुड़े बहुत से व्यावसायिक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए लोन ले सकते हैं जैसे-

⋆ बिजनेस का कॅश फ्लो बढ़ने के लिए
⋆ तकनीकी उन्नयन के लिए
⋆ बिजनेस के लिए नये उपकरण खरीदने के लिए
⋆ वस्तुसूची या स्टॉक को बढ़ने के लिए
⋆ सीज़नल वर्कर्स को काम पर रखने करने के लिए
⋆ बड़े ऑर्डर्स के लिए रॉ मेटीरियल खरीदने के लिए
⋆ दूसरे शहर तक बिज़्नेस को बढ़ने के लिए
⋆ बिजनेस में नये टास्क पर काम करने के लिए

बिजनेस लोन कहा से ले?

व्यवसाय की ज़रूरतो को ध्यान में रखते हुए ही व्यवसाय लोन लेना चाहिए, इसके लिए Business Loan को 3 फॅक्टर्स के आधार पर विभाजित किया जाता है –

  1. सरकारी योजना के तहत बिजनेस लोन 
  2. बॅंक से लोन (Bank Loan)
  3. महिला उद्यमी के लिए बिजनेस लोन योजना

सरकारी ऋण योजनाएँ – पिछले कुछ सालो में माइक्रो, लघु और मध्यम एंटरप्राइज़स व्यवसाय सेक्टर भारत की अर्थव्यवस्था का सबसे गतिशील सेक्टर साबित हुआ है, जिसे MSME (Ministry of Micro, Small and Medium Enterprises) कहते है और यह भारत सरकार के अंतर्गत आता है जो कई विभाग, राज्य सरकार और स्टॉक होल्डर्स की कोवापरेशन के साथ ही मौजूदा एंटरप्राइज़स को भी सपोर्ट करता है और नये एंटरप्राइज़स को आगे बढ़ने में मदद करता है, MSME कई योजनाओ के ज़रिए Micro और Small Enterprises को व्यवसाय लोन उपलब्ध करवाता है जैसे – Credit Guarantee Fund Scheme और Coir Udyami Yojana

भारत सरकार द्वारा छोटे व्यवसाय और नये स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए बहुत सारी योजनाए बनाई गयी हैं जिसके द्वारा कोई भी उद्यमी लोन ले सकता है, ऐसी कई सारी योजनाए इस प्रकार है – 

  1. MUDRA Loan Scheme – मुद्रा ऋण योजना
  2. Stand Up India Scheme – स्टैंड अप इंडिया योजना
  3. Coir Udyami Yojana – कॉयर उद्यमी योजना
  4. Bank Credit Facilitation Scheme – बैंक क्रेडिट सुविधा योजना
  5. Market Development Assistance Scheme for MSMEs
  6. National Bank for Agriculture and Rural Development – NABARD

बैंक ऋण – भारत में उद्यमियों के लिए विभिन्न प्रकार के व्यवसाय ऋण बैंको के द्वारा उपलब्ध करवाए जाते हैं, जैसे

  1. Term Loan – टर्म/मियादी लोन
  2. Working Capital Loan – वर्किंग कैपिटल लोन
  3. Start-up Loan – स्टार्ट-अप लोन
  4. Invoice Financing – चालान वित्तपोषण
  5. Equipment Financing – उपकरण वित्तपोषण
  6. Overdraft – ओवरड्राफ्ट
  7. Business Loan for Women – महिलाओं के लिए व्यवसाय ऋण

महिला उद्यमी व्यवसाय ऋण योजनाएँ – खास तौर पर महिलाओं को अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने और पहले से चल रहे व्यवसाय को आगे बढ़ने के लिए कई सारी लोन योजनाए इस प्रकार है –

  1. Dena Shakti Scheme – देना शक्ति योजना
  2. Udyogini Scheme – उद्योगिनी योजना
  3. Cent Kalyani Scheme – सेंट कल्याणी योजना
  4. Mahila Udyam Nidhi Scheme – महिला उद्यम निधि योजना
  5. Bharatiya Mahila Bank Business Loan
  6. Stree Shakti Package For Women Entrepreneurs
  7. Annapurna Scheme – अन्नपूर्णा योजना

बिजनेस लोन लेने के लिए पात्रता मापदंड/योग्यता क्या है?

किसी भी सरकारी लोन योजना के तहत अपने व्यवसाय हेतु लोन लेने के लिए Eligibility Criteria इस प्रकार है –

क्रेडिट गारंटी लोन योजना की पात्रता – यह योजना नये और पुराने दोनो तरह के MSME (Micro and Small Enterprises) के लिए उपलब्ध है जो किसी मॅन्यूफॅक्चरिंग और सर्वीसज़ व्यवसाय में काम करते हैं।

मुद्रा ऋण योजना की पात्रता – हर तरह के मॅन्यूफॅक्चरिंग, ट्रेडिंग और सर्विस सेक्टर इकाई को इस योजना के अंतर्गत लोन मिल सकता है, नों–कॉर्पोरेट वाले छोटे व्यवसाय जिसमे ग्रामीण और शहरी इलाक़े की प्रोप्राइटरशिप या पार्ट्नरशिप फर्म्स शामिल हो, वो इस योजना के तहत लोन के लिए निवेदन कर सकते है, जैसे –

  • सेवा क्षेत्र की इकाइयाँ दुकानदार
  • फल और सब्जी विक्रेता
  • ट्रक ऑपरेटर
  • Foodservice इकाइयों
  • मरम्मत की दुकानें
  • मशीन ऑपरेटर
  • लघु उद्योग
  • खाद्य प्रसंस्कारक

स्टैंड-अप इंडिया स्कीम की पात्रता – ऐसे एंटरप्राइज़स व्यवसाय जो मॅन्यूफॅक्चरिंग, ट्रेडिंग और सेरविक सेक्टर में शामिल हैं, इसके अलावा पार्ट्नरशिप वाले एंटरप्राइज़स में कम से कम 51% की शेयर होल्डिंग और कंट्रोलिंग स्टेक एक SC/ST या फिर महिला उद्यमी के पास हो और लोन लेने वाले का किसी भी बॅंक/लोन कंपनी के साथ कोई पेमेंट में डिफॉल्ट नही हो, वो इस योजना के अंतर्गत लोन प्राप्त कर सकता है।

कॉयर उद्यमी योजना योजना पात्रता – सभी जूट प्रोसेसिंग वाले MSME स्टार्टअप जो जूट इंडस्ट्री रेजिस्ट्रेशन नियम, 2008 के तहत Coir Board के अंतर्गत register हैं, वो इस लोन योजना के लोन ले सकता है, लेकिन जो पहले किसी सरकारी सब्सिडी या अन्य सरकारी योजना के तहत इस सुविधा का लाभ ले चुका है, वो इस योजना के लिए निवेदन नही कर सकता है।

किसी भी बॅंक की लोन योजना के तहत अपने व्यवसाय हेतु लोन लेने के लिए Eligibility Criteria इस प्रकार है –

  • Self-employed businessman और professionals बैंक के लोन ले सकता है
  • लिमिटेड और प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बैंक ले लोन प्राप्त कर सकती है
  • मॅन्युफॅक्चरर, रीटेलर और सर्विस प्रवाइडर्स भी लोन ले सकते है
  • लोन आवेदक की उम्र 21 से 65 साल के बीच होनी चाहिए
  • व्यवसाय कम से कम 3 साल तक एग्ज़िस्टेन्स में होना चाहिए
  • व्यवसाय में पिछले 2 सालो से प्रॉफिट हो रहा होना चाहिए
  • व्यवसाय का टर्नोवर लगभग 40 से 50 लाख सालाना होना चाहिए
  • कम से कम प्रॉफिट 1 से 2 लाख तक होना चाहिए

किसी भी Women Entrepreneur लोन योजना के तहत अपने व्यवसाय हेतु लोन लेने के लिए Eligibility Criteria इस प्रकार है –

योजना का नामसेंट कल्याणी योजनास्त्री शक्ति पैकेज योजनादेना शक्ति योजनाउद्योगिनी योजना
योग्यता18+ उम्र व्यवसाय एंटरप्राइज़ में 51% या उससे ज़्यादा की ओनरशिप होनी चाहिएव्यवसाय एंटरप्राइज़ में 50% या उससे ज़्यादा की ओनरशिप होनी चाहिएमहिला एंट्रेपरेणेउर की उम्र 18 से 55 साल के बीच में होनी चाहिए और इनकम 1.5 लाख ज़रूरी है

बिजनेस लोन के लिए क्या डॉक्युमेंट्स चाहिए?

लोन लेने के लिए बहुत सारे डॉक्युमेंट्स/दस्तावेज़ो की ज़रूरत होती है जो लोन योजना और लोन लेने के स्रोत पर निर्भर करते है, जैसे –

1. सरकारी योजना के तहत लोन लेने के लिए ज़रूरी दस्तावेज़ –

• जीएसटी नंबर (GST Details)
• आयकर की जानकारी पिछले 3-5 साल की 
• पिछले 6 महीने के बैंक स्टेटमेंट
• जिस प्रकार का लोन लेना चाहते है उसका विवरण
• कंपनी/पार्टनरशिप फर्म के डायरेक्टर्स & पार्टनर्स की जानकारी
• ई- KYC के लिए निजी आईडी, पता प्रमाण, परिसर प्रमाण, आधार नंबर आदि।

2. बैंक से लोन लेने के लिए ज़रूरी दस्तावेज़ –

  • ITR विवरण
  • बैंक विवरण (Bank Statement)
  • व्यवसाय का प्रमाण
  • अभ्यास का प्रमाण पत्र
  • आवेदक की नवीनतम तस्वीर
  • पहचान प्रमाण – आधार कार्ड & मतदाता पहचान पत्र
  • पैन कार्ड (PAN Number)
  • कंपनी पंजीकरण प्रमाणपत्र
  • निवास प्रमाणपत्र
  • एकमात्र प्रोपराइटर घोषणा
  • पार्टनरशिप डीड प्रतिलिपि
  • एसोसिएशन का ज्ञापन और लेख की प्रति

3. Women Entrepreneur योजना के तहत लोन लेने के लिए ज़रूरी दस्तावेज़ –

  • पहचान प्रमाण – आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट,
  • एड्रेस प्रूफ – राशन कार्ड, आधार कार्ड और पासपोर्ट
  • निवास प्रमाण – उपयोगिता बिल, लैंडलाइन बिल, पानी के बिल
  • आय प्रमाण – Bank स्टेटमेंट
  • वित्तीय दस्तावेज – ITR, Profit/Loss Details, बैलेंस शीट
  • बिज़नेस ओनरशिप – पार्टनरशिप बिज़नेस के लिय पार्टनरशिप डीड, Sole प्रोप्राइटर डीड, आर्टिकल्स ऑफ़ एसोसिएशन, मेमोरंडम ऑफ़ एसोसिएशन कॉपी

बिजनेस लोन के लिए अप्लाइ कैसे करे?

बैंक से व्यवसाय लोन लेने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनो तरीक़ो से आवेदन किया जा सकता हैं, यदि बैंक आपको ऑनलाइन लोन के लिए सुविधा देता है तो सबसे पहले उनकी वेबसाइट पर जाकर पूरी जानकारी हासिल करनी चाहिए और फिर अप्लिकेशन फॉर्म यानी आवेदन पत्र में सभी महत्वपूर्ण जानकारिया भरे, और फिर सब्मिट करे, बैंक की कस्टमर सर्विस टीम से आपको कोई फोन करता है तो अपने फॉर्म को वेरिफिकेशन के लिए डाल दें और फिर यदि लोन के लिए आवश्यक योग्यता मेल खाती हैं तो आपका लोन अप्रूव हो जाएगा और थोड़े ही दीनो में आपको लोन का अमाउंट मिल जाएगा।

ऑफलाइन तरीके से बैंक से लोन प्राप्त करने के लिए –

  1. सबसे पहले बैंक की शाखा पर जाए और अप्लिकेशन फॉर्म प्राप्त करे
  2. अप्लिकेशन फॉर्म करें, फॉर्म को अटेस्ट करें और सभी ज़रूरी डॉक्युमेंट्स सब्मिट करें
  3. उसके बाद बैंक आपके सभी डॉक्युमेंट्स को वेरिफाइ करेगा
  4. लोन के एलिजिबिलिटी क्राइटीरिया को मॅच होते है तो लोन अप्रूव हो जाएगा
  5. फिर थोड़े ही दीनो में आपको लोन प्राप्त हो जाएगा

यदि आप किसी सरकारी योजना के तहत लोन लेना चाहते है तो नीचे दिए गये स्टेप्स फॉलो करे –

  1. जिस लोन योजना से लोन लेना चाहते हैं, उसकी ऑनलाइन वेबसाइट पर जायें
  2. वेबसाइट पर रिजिस्टर करें और लोग इन करें
  3. योजना की टर्म्ज़ और कंडीशन्स पर अग्री करें
  4. अपने फाइनान्षियल क्रेडेन्षियल्स और बाकी ज़रूरी जानकारी भरे
  5. फिर आगे प्रोसीड करें और फॉर्म्स और दस्तावेज़ उपलोड करें
  6. अब वेरिफिकेशन के बाद लोन अप्रूव हो जाएगा

बिजनेस लोन की ब्याज दर (Interest Rate) आपके बिजनेस के सालाना टर्नोवर, बिजनेस कितने टाइम से चल रहा है, कितने लोन अमाउंट के लिए अप्लाइ किया गया है, लोन चुकाने की क्षमता आदि सब पर निर्भर करता है यानी जितना ज़्यादा लोन अमाउंट होता है, ब्याज दर उतनी ही कम होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here