10th क्लास (10वीं) के बाद क्या करे?

10 ke baad kya kare?

10वी कक्षा पास करने के बाद क्या करे, 10 ke baad kya kare? यह एक आम विभ्रान्ति है जिसका सामना अधिकांश छात्रों को करना पड़ता है। भारत में हर क्षेत्र में कैरियर बनाने के बहुत सारे अवसर उपलब्ध हैं, लेकिन सही स्ट्रीम / सब्जेक्ट का चयन करना स्टूडेंट्स के लिए मुख्य चिंता का विषय रहता है।

कुछ छात्र इस बारे में बहुत ही स्पष्ट रहते हैं कि उनको अपने जीवन में क्या करना है, लेकिन कई छात्र ऐसे भी हैं जो अपने करियर को चुनने को लेकर भ्रमित रहते हैं। कक्षा 10 वीं पास करने के बाद करियर चुनना हर छात्र के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण निर्णय होता है। एक सही निर्णय ही अच्छा करियर बनाने में मदद कर सकता है।

जो छात्र 10वी के बाद क्या करे (10 ke baad kya kare) या कौनसे स्ट्रीम का चयन करे, इसके बारे में उलझन में रहते हैं, उन छात्रों के लिए कैरियर परामर्श बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि आज के युवा देश के भविष्य है, इसलिए इस पोस्ट में इससे से संबंधित जानकारी विस्तार से दी गयी है कि 10वीं Class के बाद Career Option क्या-क्या है?

10वीं के बाद करियर विकल्प – 10 ke baad kya kare?

सही समय पर सही कैरियर सलाह और मार्गदर्शन मिलना जीवन में चमत्कार कर सकता है, अपनी ताकत और रुचि का सही से आकलन और विश्लेषण करके ही आप उपयुक्त कैरियर मार्ग का निर्धारण कर सकते है। 10वीं कक्षा पास करने के बाद सही करियर का चयन हर स्टूडेंट का सबसे महत्वपूर्ण निर्णय होता है, इसलिए कोई भी विकल्प चुनने में जल्दी बाजी नही करनी चाहिए, आइए जानते है कि आप 10th/10 ke baad kya कर सकते हैं।

HSC or +2 10 वीं कक्षा पास करने के बाद स्टूडेंट्स पीसीएम (Physics, Chemistry, Mathematics), पीसीबी (Physics, Chemistry, Biology), पीसीएमबी (Physics, Chemistry, Mathematics & Biology), कॉमर्स विद मैथ्स (Commerce with Maths), कॉमर्स विदआउट मैथ्स (Commerce without Maths) और आर्ट्स/ह्यूमनिटीस/ मानविकी (Art and Humanities) जैसे विषय समूह या स्ट्रीम का चयन कर सकता है और 11वी & 12वी कक्षा की पढ़ाई कर सकते है जो ज़्यादातर स्टूडेंट्स करते ही है, इससे आपके कैरियर की दिशा निर्धारित हो जाती है, किसी एक स्ट्रीम से आप 12 वीं कक्षा पास करने के बाद, अपने इंटरेस्ट के आधार पर विषय चयन करके स्नातक की पढ़ाई कर सकते हैं।

ITI Course(Industrial Training Institutes यानी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान) जो छात्र 10 वीं कक्षा पास करने के बाद मैकेनिकल, इलेक्ट्रीशियन, इलेक्ट्रिकल जैसे रोजगार के फील्ड में जाना चाहते है वो आईटीआई पाठ्यक्रम यानी (ITI का Course) कर सकते हैं।

POLYTECHNIC 10 वीं कक्षा के बाद छात्र ‘पॉलिटेक्निक‘ के कोर्स कर सकते हैं, जैसे कि Mechanical, Chemicals, Computer, Automobile, Civil आदि। पॉलिटेक्निक कॉलेज सामान्यतः 3 साल, 2 साल और 1 साल के डिप्लोमा पाठ्यक्रम / कोर्स प्रदान करते हैं।

SHORT Term Course 10 वीं कक्षा के बाद स्टूडेंट टैली (Tally), कंप्यूटर कोर्स (Certificate Programme in MS Office), डीटीपी (Desktop Publishing Course – DTP), ग्राफिक्स (Certificate Course in Graphics Designing), वेब डिज़ाइनिंग (Certificate Course in Web Designing), प्रोग्रामिंग (Certificate Course in Programming Language) जैसे अल्पकालिक पाठ्यक्रम यानी ‘शॉर्ट टर्म कोर्स’ भी कर सकते हैं।

PARAMEDICAL 10 वीं कक्षा के बाद छात्र पैरामेडिक यानी ‘चिकित्सा-सहायक‘ के कोर्स कर सकते हैं जैसे कि DOA (Diploma in Ophthalmic Assistant), DMLT (Diploma in Medical Laboratory Technology), DOT (Diploma in Ophthalmic Assistant) आदि।

10वीं के बाद कौन सा सब्जेक्ट ले?

SCIENCE अधिकांश छात्रों के लिए साइन्स या विज्ञान सबसे लोकप्रिय और पसंदीदा विषय है, साइंस स्ट्रीम इंजीनियरिंग, मेडिकल, आईटी जैसे कई आकर्षक कैरियर विकल्प आपको प्रदान करता है और आप साइन्स से पढ़ाई करने के बाद अनुसंधान / रिसर्च भूमिकाओं वाले कैरियर विकल्प को भी चुन सकते हैं। साइंस स्ट्रीम लेने का सबसे अच्छा फायदा यह है कि इस विषय से उच्च माध्यमिक की पढ़ाई करने के बाद आप विज्ञान के अलावा वाणिज्य/कॉमर्स और आर्ट्स/कला विषय से संबंधित फील्ड में अपना कैरियर बना सकते है।

साइन्स की पढ़ाई आपको उत्कृष्ट समस्या-सुलझाने की क्षमताओं से लैस कर देता है, साइन्स गणित और साइन्स जीवविज्ञान का विकल्प आपको इसमे मिलता है जिसको आप अपनी दिलचस्पी के हिसाब से चुन सकते है, ये विषय छात्रों को उच्च सम्मानित और अच्छा भुगतान करने वाली नौकरियों को करने में सक्षम बनाते है, विज्ञान स्ट्रीम के अंतर्गत आने वाले विषय इस प्रकार है –

★ भौतिक विज्ञान (Physics)
★ रसायन विज्ञान (Chemistry)
★ जीवविज्ञान (Biology)
★ गणित (Mathematics)
★ अंग्रेज़ी (English)

यदि आपको प्रौद्योगिकी या तकनीक या IT में दिलचस्पी है और यदि आप चिकित्सा के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हो, तो आप भौतिकी, रसायन, गणित, जीव विज्ञान जैसे विषयो का अध्ययन कर सकते हैं।

COMMERCE वाणिज्य या कॉमर्स भी बहुत अच्छा कैरियर विकल्प है, यदि आपकी संख्या/नंबर्स, वित्त/फाइनान्सस, एकनॉमिक्स/अर्थशास्त्र आदि सब में दिलचस्पी हैं, तो यह स्ट्रीम आपके लिए अच्छा विकल्प है। इस स्ट्रीम में कई करियर विकल्प उपलब्ध है जैसे चार्टर्ड अकाउंटेंट, एमबीए, बैंकिंग क्षेत्रों में निवेश आदि।

इसके अलावा, यदि आप व्यवसाय करने में दिलचस्पी रखते है तो आपको अकाउंटेंसी, फाइनेंस, इकोनॉमिक्स आदि विषयों के बारे में परिचित होना और नंबर्स व अकाउंटिंग डेटा में अच्छा होना बहुत ज़रूरी होता है, वाणिज्य स्ट्रीम / कॉमर्स विषय के अंतर्गत आने वाले प्रमुख विषय इस प्रकार हैं –

★ लेखाकर्म (Accountancy)
★ अर्थशास्त्र (Economics)
★ बिजनेस स्टडीज (Business Studies)
★ अर्थशास्त्र (Economics)
★ गणित (Mathematics)
★ सूचना विज्ञान (Informatics Practices)
★ अंग्रेज़ी (English)

यदि आपके पास नंबर्स, व्यापार, अर्थशास्त्र के लिए एक आत्मीयता यानी दिल से सीखने की इच्छा है और आप अर्थशास्त्र या व्यवसाय की दुनिया में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं, तो वाणिज्य / कॉमर्स (Commerce) आपके लिए सही कैरियर विकल्प है।

ARTS or Humanitiesआर्ट्स या कला या मानविकी विषय स्टूडेंट्स के बीच बहुत ही लोकप्रिय स्ट्रीम है, ज़्यादा से ज़्यादा छात्र इसी सब्जेक्ट का चयन करते हैं। आर्ट्स सब्जेक्ट छात्रों को कैरियर के कई सारे आकर्षक अवसरों को प्रदान करता है जैसे पत्रकारिता, भाषा, इतिहास, मनोविज्ञान आदि। आर्ट्स से संबंधित सभी फील्ड जैसे डिजाइन, भाषा कला, प्रदर्शन कला, मानविकी बहुत अच्छा भुगतान करने वाले करियर विकल्प होते है।

आर्ट्स/कला विषय रचनात्मकता और आत्म-अभिव्यक्ति को प्रोत्साहित करने वाला सब्जेक्ट है, जो छात्र आर्ट्स और ह्यूमनिटी स्ट्रीम लेते हैं, वो छात्र अपनी सोच को बहुत अच्छे से विकसित कर पाते हैं। यह विषय आपके नेतृत्व / लीडरशिप के गुणों को बढ़ाने में भी काफ़ी मदद करता है, आर्ट्स स्ट्रीम के अंतर्गत आने वाले प्रमुख विषय इस प्रकार हैं –

★ इतिहास (History)
★ भूगोल (Geography)
★ राजनीति विज्ञान (Political Science)
★ मनोविज्ञान (Psychology)
★ नागरिक सास्त्र (Sociology)
★ अंग्रेज़ी (English)
★ हिन्दी (Hindi)
★ संस्कृत (Sanskrit)

यदि आप एक ऐसे छात्र हैं जो रचनात्मक या कला और मानवता में दिलचस्पी रखते हो तो आप कला / आर्ट्स विषय आपके लिए एक बेहतरीन रास्ता है, क्योकि 10 वीं के बाद आर्ट्स स्ट्रीम में भी आपकी दिलचस्पी के अनुसार कई सारे विषयो के विकल्प आपके लिए उपलब्ध होते है, जिनमे से कुछ विषयो को चुन कर आप एक बेहतरीन केरियर बना सकते है।

After 12th Science क्या-क्या विकल्प है?
After 12th Commerce क्या-क्या विकल्प है?
After 12th Arts क्या-क्या विकल्प मौजूद है?

10 वीं पूरी करने के बाद एक सही और आपके लिए उचित शिक्षा बोर्ड चुनना भी आपके लिए बहुत ज़रूरी है, राज्य/स्टेट शिक्षा बोर्ड के अलावा भारत में CBSE, ICSE और IB (International Baccalaureate) के भी विकल्प मौजूद है, सही शिक्षा बोर्ड का चयन आपकी उच्च माध्यमिक शिक्षा के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है क्योकि जब सबसे अच्छी शिक्षा होने की बात आती है, तो सही बोर्ड और अच्छे स्कूल का चुनाव बहुत ही आवश्यक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here