भारत में लघु व्यवसाय के लिए लाइसेंस?

व्यवसाय लाइसेंस सरकारी एजेंसियों द्वारा जारी किए जाने वाला परमिट हैं जो किन्ही व्यक्तियों या कंपनियों को सरकार के भौगोलिक क्षेत्राधिकार के अनुसार व्यापार करने की अनुमति देते हैं। बिजनेस लाइसेंस स्थानीय सरकार द्वारा जारी व्यवसाय शुरू करने का प्राधिकार या मुख्तारनामा है। इस पोस्ट में जानेंगे कि भारत में लघु व्यवसाय के लिए लाइसेंस कहा से प्राप्त किया जाता है और License for Small Business in India? 

License for Small Business

License for Small Business

भारत में किसी छोटे व्यवसाय को शुरू करने के लिए आवश्यक दस्तावेज और लाइसेंस प्राप्त करना बहुत ही आसान है, सरकार ने लगभग हर व्यवसाय के लिए लाइसेंस बनाने में आने वाली बाधाओं को दूर किया है। आज किसी भी व्यवसाय के लिए आसानी से ऑनलाइन और पंजीकृत व प्रतिष्ठित कानून फर्मों के माध्यम से लाइसेंस प्राप्त कर सकते हैं जो एक उचित शुल्क पर सर्विस प्रदान करते हैं।

आज के समय में किसी भी छोटे व्यवसाय और लघु उद्योग को चलाने के लिए बिजनेस को क़ानूनी तौर पर पर वैध बनाना बहुत आवश्यक है जिससे व्यवसाय लोन या ज़रूरत पड़ने पर कही से भी व्यवसाय के लिए धन प्राप्त करने में मदद मिलती है, इसके अलावा बैंक में चालू खाता (Current Account) खोलने, आग लगने, प्राकृतिक आपदाओं और अन्य किसी भी प्रकार के नुकसानों के खिलाफ उद्योग का बीमा करवाने के लिए भी व्यवसाय लाइसेन्स की ज़रूरत होती है। एक वैध और लाइसेन्स धारी व्यवसाय को चलाने का मतलब है कि आप कोई भी गैर क़ानूनी और ग़लत काम अपने व्यवसाय की आड़ में नही करते हैं।

किसी व्यवसाय को क़ानूनी तौर पर वैध बनाने के लिए आप स्थानीय नगर निकाय जैसे नगरपालिका या ग्राम पंचायत की अनुमति ले कर सकते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में गृह उद्योग शुरू करने के लिए आसानी से अनुमति प्राप्त की जा सकती है लेकिन इसके विपरीत शहरों में गृह उद्योग को नगरपालिका परमिट प्राप्त करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि यदि आप आवासीय भवन या आवास परिसर (हाउसिंग सोसाइटी) में रह रहे हैं तो हाउसिंग सोसाइटी आपको घर-आधारित व्यवसाय पंजीकृत करने के लिए आवश्यक अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) नहीं दे सकती है।

भारत में कुछ व्यवसायों को शुरू करने के लिए एक खास लाइसेंसिंग की ज़रूरत पड़ती है जैसे कि यदि आप घर से किसी खाद्य उत्पादन व्यवसाय को चालू करने की योजना बना रहे हैं और पैक भोजन या टिफिन सर्विस व्यवसाय करने का प्लान कर रहे है तो आपको भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) से एक परमिट लेना पड़ता है।

बड़े कॉरपोरेट के दस्तावेज़ो को बनाने के मामलों में, व्यवसाय के पंजीकरण के लिए आवेदन या लाइसेंस संबंधी औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए आसानी से ऑनलाइन या पंजीकृत कानून कंपनी की सहायता ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *