Online shiksha (ऑनलाइन एजुकेशन) essay in Hindi

ऑनलाइन एजुकेशन (Online Education) एक प्रकार की शैक्षिक या शिक्षा प्रणाली है जिसमे इंटरनेट के ज़रिए छात्रों को उनके घर पर ही उनके पर्सनल कंप्यूटर के इस्तेमाल से ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जाती है। ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम्स या कार्यक्रमों के द्वारा दी जाने वाली शिक्षा की विधियां व सामग्री, अक्सर स्कूल और कॉलेज परिसर में प्रदान की जाने वाले कार्यक्रमों के समान ही होती हैं। इस पोस्ट में ऑनलाइन शिक्षा (Online Education in Hindi) के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी है, जो आपको ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध (online shiksha essay in Hindi) लिखने के काम भी आ सकती है। 

Online Education in Hindi

आज बढ़ती हुई तकनीक हर क्षेत्र में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है इससे शिक्षा के तरीके भी काफ़ी हद तक बदले है। आज ऑनलाइन शिक्षा पारंपरिक तरीके वाली कक्षा शिक्षण प्रणाली से बेहतर साबित हो रही है। भारत में ऑनलाइन शिक्षा का भविष्य बहुत ही उज्ज्वल है क्योकि इससे दूरस्थ शिक्षा यानी डिस्टेन्स लर्निंग व डिस्टेन्स एजुकेशन (Distance Education) को बढ़ावा मिल रहा है और लोग शिक्षा के साथ-साथ जॉब भी आसानी से कर पा रहे है।

भारत में लोग आसान सुविधा, सस्ती लागत और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा दे रहे हैं जो कि काफ़ी अच्छी बात है, और अब तो सरकार भी ऑनलाइन शिक्षा को भी बढ़ावा देने पर ज़ोर डाल रही है। डिजिटलीकरण के चलते, आने वाले कुछ वर्षों में ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली या ऑनलाइन एजुकेशन के तरीक़ो में काफ़ी वृद्धि होने वाली है।

हाल ही के सर्वेक्षण के अनुसार, अमेरिका के बाद भारत दुनिया भर में ऑनलाइन नामांकन पाठ्यक्रमों के लिए दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारतीय विद्यालयों में ऑनलाइन एजुकेशन सिस्टम शिक्षा की गुणवत्ता को काफ़ी हद तक बढ़ा सकता है।

अमेरिका में काफ़ी सारे माध्यमिक स्कूलों द्वारा ऑनलाइन शिक्षा प्रदान करना शुरू कर दिया है जो काफ़ी प्रभावी साबित हो रहा हैं। कई विदेशी विश्वविद्यालय ऑनलाइन डिग्री भी प्रदान कर रहे हैं ताकि उच्च शिक्षा के लिए छात्रो को विदेश जाने की आवश्यकता ना हो। कई बड़े भारतीय विश्वविद्यालय जैसे सिक्किम मणिपाल, सिम्बायोसिस, आईआईएम और अन्नामलाई विश्वविद्यालय दूरस्थ शिक्षा (डिस्टेन्स एजुकेशन) प्रदान कर रहे हैं। ये विश्वविद्यालय एमसीए, एमबीए, एमएससी, बीए ऑनर्स जैसे कई पाठ्यक्रम ऑनलाइन एजुकेशन के माध्यम से प्रदान करते हैं।

ऑनलाइन शिक्षा को ई-लर्निंग या ई-शिक्षा के रूप में भी जाना जाता है, भारत में सीखने के इन नए तरीक़ो को काफ़ी हद तक स्वीकार किया जा रहा है। भारत में कई बड़े विश्वविद्यालय, शिक्षा संगठन और कॉलेज ऑनलाइन एजुकेशन को नई शिक्षा प्रणाली के रूप में, इसे स्वीकार कर रहे है।

ऑनलाइन शिक्षा छात्रों के लिए सस्ती और समय प्रबंधन के हिसाब से भी काफ़ी बेहतर है क्योंकि इसमे छात्र अपने घर से अपनी समय सुविधा के हिसाब से सीख सकते हैं। ऑनलाइन एजुकेशन प्रोग्राम्स में कोई उम्र सीमा नहीं होती है, ये कोई भी कहीं से भी अपनी मर्ज़ी का कोर्स कर सकता है।

सभी ऑनलाइन पाठ्यक्रमों की फीस आमतौर पर सस्ती होती है। ऑनलाइन शिक्षा से व्याख्यान और सम्मेलनों (लेक्चर्स & कॉन्फरेन्सस) पर खर्च होने वाले पैसो में भी काफ़ी बचत होती है और समय-समय पर आयोजित की जाने वाली परीक्षाए भी ऑनलाइन ही की जाने लगी हैं।

आज, कक्षा शिक्षा हर किसी के लिए उपयुक्त नहीं है क्योंकि कक्षा में कुछ छात्र ऐसे होते हैं जिनको कक्षा शिक्षा में अधिक विस्तृत जानकारी की आवश्यकता होती है या फिर वे समझने में ज़्यादा समय लेते है तो उनके लिए ऑनलाइन शिक्षा बेहतर है, इससे वे अपनी मर्ज़ी से किसी टॉपिक को समझने में चाहे जितना समय ले सकते है। ऑनलाइन शिक्षा में छात्र अधिक विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और ध्यान केंद्रित भी कर सकते हैं। 

ऑनलाइन शिक्षा के लिए हजारों छात्र एक ही कोर्स के लिए नामांकन कर सकते हैं। ऑनलाइन शिक्षा के लिए प्रवेश पाने के लिए कतार में खड़े होने की भी जरूरत नहीं होती है। इसके अलावा, वो सभी लोग जो पेशेवर होते हुए भी किसी तरह का कोर्स करना चाहते हैं या अपने कौशल में सुधार के लिए आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं वे ऑनलाइन शिक्षा (online shiksha) के लिए नामांकन करके आसानी से शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

आज के समय में, ऑनलाइन शिक्षा कामकाजी पेशेवर लोगो में अधिक लोकप्रिय हो रही है क्योंकि उनके पास नियमित कक्षाओं में भाग लेने का समय नहीं होता है इसलिए यह शिक्षा प्रणाली उनके लिए सबसे अच्छा विकल्प है जिसमे वे दिन के किसी भी समय में ऑनलाइन कोर्स के पाठ्यक्रम का अभ्यास कर सकते हैं।

ऑनलाइन शिक्षा ने शिक्षा की गुणवत्ता को बदलकर पहले की तुलना में पढ़ाई लिखाई के वास्तविक परिणाम को और भी बेहतर बना दिया है। भारत में कुछ ऐसे ऑनलाइन शिक्षा सेवा प्रदाता भी हैं जो मुफ्त में शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। ऑनलाइन शिक्षा की बढ़ती मांग को देखते हुए, कई व्यापारिक प्रतियोगी भी इसमें प्रवेश कर रहे है, इससे ऑनलाइन शिक्षा की मांग भविष्य में व्याख्याताओं के लिए और अधिक रोजगार पैदा करेगी।

एक बेहतर विकल्प होने के बावजूद भी लोग ऑनलाइन शिक्षा को कक्षा शिक्षा से अधिक महत्वपूर्ण नहीं मानते है, इसके लिए सरकार के द्वारा लोगो की प्रवृत्ति बदलने के लिए लोगो में ऑनलाइन एजुकेशन को लेकर और अधिक जागरूकता बढ़ाने की ज़रूरत है। 

ऑनलाइन शिक्षा के कई सारे लाभ है जैसे कि शिक्षा के लिए उन्नत नयी शिक्षण तकनीकों का उपयोग होता है जो आज के युग के साथ चलने का एहसास करवाता है, ऑनलाइन शिक्षा काफ़ी सुविधाजनक व सस्ती होती है, इसमे आप अपनी टाइमिंग के अनुसार क्लास ले सकते हो, इसमे आप अपनी मर्ज़ी से जितना चाहे उतना रिवीजन कर सकते है, इसमे आपको यात्रा नहीं करनी पड़ती है जिससे आपका समय व पैसा दोनो बचता है, इसमे आप अधिक एकाग्रता व कम गड़बड़ी के साथ पढ़ाई कर सकते है और वीडियो प्रस्तुतियों से आपको किसी भी टॉपिक को जल्दी से व आसानी से समझने में मदद मिलती है।

One Reply to “Online shiksha (ऑनलाइन एजुकेशन) essay in Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *